You are here
Home > Festivals और Events > जानिए संत निकोलस के बारे में जो क्रिसमस डे वाले दिन बच्चो को गिफ्ट देने आते है – क्या है इसके पीछे की कहानी ?

जानिए संत निकोलस के बारे में जो क्रिसमस डे वाले दिन बच्चो को गिफ्ट देने आते है – क्या है इसके पीछे की कहानी ?

ईसामसीह के जन्मदिन के मोके पर पुरे बिश्ब में क्रिसमस बड़ी धूम धाम से बनाया जाता है। इस दिन हर लोग अपने घर में क्रिसमस ट्री सजाते है। और अलग अलग तरह के रीती रिबाज से क्रिसमस डे मनाया जाता है।

सेंटा निकोलस क्या है

Saint Nicholas को हर बच्चा-2 जनता है क्रिसमस डे वाले दिन खासकर बच्चो को सेंटा का इंतजार रहता है। संत निकोलस (Saint Nicholas) का जन्म तीसरी शताब्दी में जीसस की मृत्यु के 280 बर्ष के बाद म्यमार में हुआ था। माता पिता की मृत्यु के बाद निकोलस को सिर्फ भगवान जीसस पर ही आस्था और यकीन था। और बड़े होकर उन्होंने अपना जीबन भगवान को अर्पित कर दिया।

संत निकोलस

कुछ समय बाद निकोलस पादरी फिर बिशप बने। उन्हें लोगो की मदत करना बहुत पसंद था। और बे गरीब लोगो और बच्चों को गिफ्ट दिया करते थे। उन्हें इसलिए सेंटा कहा जाता है क्युकी बे अर्थरात्रि में ही गिफ्ट दिया करते थे। तांकि उन्हें कोई देख न ले। इसी तरह उनका नाम सेंटा निकोलस पड़ा। और आज भी बच्चों को CHRISTMAS DAY वाले दिन सेंटा का इंतजार रहता है।

 

यह भी पढ़े : जानिए CHRISTMAS DAY आप काम खर्च में भी कर सकते है सेलिब्रेशन – और इन लम्हो को आप पूरी जिंदगी नहीं भूल पाएंगे

Similar Articles

Top