Advertisement

भूस्खलन की चपेट में आया गरीब का घर, देर रात बाहर निकलकर इस परिवार ने बचाई जान

हिमाचल प्रदेश के जिले कुल्लू  में स्थित शैंशर पंचायत के पटाहरा गांव में गुरुवार की रात को मूसलाधार बारिश से भूस्खलन हुआ, और जिससे काफी बड़े-बड़े पत्थर गांव के बीचों-बीच आ पहुंचे. बता दे की इस भूस्खलन की वजह से आए इन पत्थरों से हीरालाल शर्मा के मकान को बहुत नुकसान हुआ. और इस कारण उनको अपने पूरे परिवार सहित दूसरे के घर में रात गुजारनी पड़ी.

Advertisement

बता दें कि हीरालाल शर्मा को अपनी पत्नी, दो बेटों, एक बहू और पोते सहित कुल छह सदस्य इस मकान में रहते थे और खेती बाड़ी से अपना जीवन यापन करते हैं. आपको बता दे की हीरा लाल का पूरा परिवार एक लकड़ी के मकान में रहते थे और करीब 5 वर्ष पहले उन्होंने मुश्किल से अपने घर के साथ में ही एक सीमेंट का कमरा तैयार किया था , जिसमें शौचालय व बाथरूम भी बनाए गए थे. परन्तु देर रात को हुए इस भूस्खलन से यह पूरा कमरा व शौचालय क्षतिग्रस्त हो गए. भूस्खलन में आये पत्थर इतने बड़े-बड़े थे कि पूरे कमरे का लेंटर ही एक तरफ फेंक दिया और दीवारें भी सारी तोड़ दी. हालांकि इसमें किसी तरह की जनहानि नहीं हुई

वहीं पंचायत प्रधान मथुरा देवी, उपप्रधान रोशन लाल तथा वार्ड सदस्या फूला देवी ने कहा कि हीरालाल का काफी नुकसान हुआ तथा पूरे परिवार को रात को ही दूसरे के घर में शिफ्ट किया गया. पंचायत प्रतिनिधियों ने कहा कि भविष्य में भी हीरालाल व साथ लगते अन्य घरों को खतरा पैदा हो गया है, जिसकी सूचना प्रशासन को दे दी गई है.

Advertisement
Leave a Comment