You are here
Home > Photogallery > समुद्र की गहराई से मिला 1200 साल पुरना विशाल मंदिर और रत्नों से भरे नाव

समुद्र की गहराई से मिला 1200 साल पुरना विशाल मंदिर और रत्नों से भरे नाव

जैसे की आप जानते ही है की मिस्र की सभ्यता और संस्कृति दुनिया में सबसे अधिक प्राचीन मानी जाती है. और यहां समय-समय पर हो रही खुदाई के दौरान कुछ ऐसी कला-कृतियां मिली हैं, जो कि हजारों साल पुरानी थीं. और इससे हमे वहां की सबसे प्राचीनतम सभ्यता के बारे में दुनिया को जानकारी मिलती है. और आपको बता दे की हाल ही में समुद्र की गहराई से एक रहस्यमयी मंदिर मिला है. और मिले इस मंदिर के बारे में बताया जा रहा है कि यह करीब 1200 साल पुराना है. और मंदिर के साथ ही खजाने से लदे हुए नाव भी मिले हैं, जिनकी कीमत करोड़ों में है.

कला-कृतियां

मिली जानकारी के अनुसार, यह मंदिर हेराक्लिओन शहर के उत्तरी हिस्से में मिला है, और जिसे मिस्र का खोया हुआ शहर अटलांटिस भी कहा जाता है. और इसकी खोज करने वाले पुरातत्वविदों के अनुसार, प्राचीन समय में हेराक्लिओन को मंदिरों का एक शहर कहा जाता था. परन्तु करीब हजार साल पहले आए सुनामी के कारण यह शहर पानी में डूब गया.

कला-कृतियां

अमर उजाला डॉट कॉम के अनुसार,समुद्र की गहराई में कई प्राचीन इमारतें और मिट्टी के बर्तन भी प्राप्त हुए हैं, जो लगभग 2000 साल पुराने हैं. मिस्र और यूरोप के पुरातत्वविदों ने मिलकर ये अनोखी खोज की है.

कला-कृतियां

बता दे की पिछले 15 सालों में यहां समुद्र से गोताखोरों ने 64 प्राचीन नाव, और सोने के सिक्कों का खजाना, 16 फीट ऊंची मूर्तियां और एक विशाल मंदिर के अवशेषों को खोजा है.

कला-कृतियां

जानकारी के अनुसार, मंदिर के साथ-साथ यहां समुद्र में नावें भी मिली हैं, और जिसमें तांबे के सिक्के और ज्वैलरी लदे हुए हैं. ये सिक्के राजा टॉलमी द्वितीय के कार्यकाल यानी तीसरी शताब्दी के हैं.

न्यूज़ सोर्स : news18.com

Similar Articles

Top