You are here
Home > Travel & Tourism > शिमला में घूमने लायक बेस्ट 7th खुबसूरत स्थान

शिमला में घूमने लायक बेस्ट 7th खुबसूरत स्थान

शिमला में घूमने लायक बेस्ट 7th खुबसूरत स्थान:

Advertisement

ग्रीन वेल्ली:

शिमला से कुफरी जाने वाले रस्ते के बिच में ही पड़ता हैं| इस प्लेस का वातावरण बहुत सुन्दर हैं | यह जगह फोटोग्राफी के लिए प्रशिद्ध हैं | यह जगह लोगो को आकर्षित करती हैं | इसके ऊँचे-निचे पहाड़ चारो तरफ जंगली पेड़ पौधों से भरा हुआ हैं | लोग यहां पर आकर अपने आप को तरो-ताज़ा पाते हैं|

आननन्दले:

यह जगह हरे-भरे देवदार के पेड़ो से भरे वनो से सजा हुआ हैं यह एक भेतरीन पिकनिक स्पॉट हैं | जो की शिमला के मॉल रोड से २ किलोमीटर की दुरी पर स्तिथ हैं | समुन्द्र तल से लगभग 6220 मीटर अपनी ख़ूबसूरती के लिए परषिद है जहा पर अंग्रेज हॉर्स राइडिंग एंड पोलो खेला करते थे। अभी भी यहाँ जब कोई घूमने आता है तो हॉर्स राइडिंग एंड पोलो खेल आनंद उठाते है।

क्राईस्ट चर्च:

यह चर्च उत्तर भारत में स्तिथ सबसे पुराना दूसरा चर्च है | जिसके पत्थरों पर उत्कृष्त नकासी और रंगीन ग्लासो से सज़ा हुआ है सुंदर खिड़कियो इसे सुन्दर बनती है खासकर रात्री के वक्त इस इमारत का नजारा देख़ने लायक होता है.

कुफरी:

शायद ही कोई होगा जो कुफरी के बारे में ना जानता हो। तकरीबन 2750 मीटर की ऊंचाइयों पर स्थित है यह जगह को शिमला की बर्फीली टोपी के नाम से जाना जाता है यहां पर देखने लायक प्रमुख स्थल में ग्रेट हिमालय नेचर पार्क और फागू है यहां कई जगहों से आए लोग आकर इस्किंग और घुड़सवारी करते हैं.

मॉल रोड:

में यह जगह शॉपिंग का मुख्या केंद्र हैं | यहां पर सभी तरहे के सामान मिलते हैं जैसे : बच्चो के खेल खिलोने व हस्त निर्मित चीजे खरीद सकते हैं | यह जगह शिमला के सबसे व्यस्त व्यवसाय मैं से एक क्षेत्र माना जाता हैं |

हिमाचल स्टेट म्युसियम:

यह म्युसियम स्कटल पॉइंट से १ किलोमीटर की दुरी पर स्तिथ हैं | जिसको शिवला राज्य संग्रालय के नाम से भी जाना जाता हैं | इस म्युसियम में आपको पहाड़ी चित्र,बिभिन कांस्य कलाकारी चित्र एवं मानव विज्ञानं से निर्मित चीज़े देखने को मिल जाएगी | यहाँ पर पुस्तकालय भी मौजूद है | जिसमे कई आईपीएस की किताबें और पाण्डु लेखों का संग्रह मिल जाएगा |

वाइसरीगल लॉज :

इस लोग की स्थापना सन १८८८ में हुई थी | इस लॉज का इस्तेमाल ब्रिटिश शासन के दौरान राष्ट्रपति की मेजबानी हुआ करता था | इसे राष्ट्रपति निवास भी कहा जाता है|

 

Advertisement

Similar Articles

Top