Advertisement

लंपी त्वचा रोग के चलते हिमाचल के मेलों में पशुओं की खरीद-फरोख्त पर लगा प्रतिबंध

हिमाचल प्रदेश में होने वाले मेलों में पशुओं की खरीद पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। आपको बता दे की यह फैसला पशुओं में lumpy skin disease के बढ़ते मामलों को लेकर लिया गया है। बाहरी राज्यों से पशुओं पर अभी तक की खरीद पर रोक लगाई गई थी। लेकिन जिस तरह से मामले बढ़ रहे हैं, उसको देखते हुए ही सरकार ने अब मेलों में भी पशुओं की खरीद-फरोख्त पर रोक लगा दी है। State Animal Husbandry Department की रिपोर्ट के मुताबिक अब तक प्रदेश में 33,966 पशु वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। और कुल 990 पशु वायरस के कारण जान गंवा चुके हैं।

Advertisement

हिमाचल प्रदेश में अभी तक कुल 91,450 पशुओं को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। और इस बीमारी से प्रदेश भर में 23,072 सक्रिय केस हैं। राज्य के पशुपालन विभाग के निदेशक डॉ. प्रदीप शर्मा ने कहा कि विभाग के चारों फार्म में अभी तक एक भी पशु लंपी स्किन वायरस से ग्रस्त नहीं हुआ है। यह निजी डेयरी फार्म में ही केस आ रहे हैं और अधिकारियों को पैनी नजर रखने के साथ पशुपालकों को जागरूक करने के लिए कहा गया है। वैक्सीनेशन अभियान भी चला है।

Advertisement
Leave a Comment