बारिश की आपदा से हुए नुकसान का सही आंकलन करने के लिए ड्रोन का होगा इस्तेमाल
You are here
Home > chamba > बारिश की आपदा से हुए नुकसान का सही आंकलन करने के लिए ड्रोन का होगा इस्तेमाल

बारिश की आपदा से हुए नुकसान का सही आंकलन करने के लिए ड्रोन का होगा इस्तेमाल

हिमाचल प्रदेश में बीते दिनों हुई बारिश से काफी नुकसान हुआ है। बारिश से हुए नुक़सान का सही आंकलन किया जा सके इसके लिए अब ड्रोन का इस्तेमाल किया जाएगा। बता दे की यह निर्देश अधिकारियों को वन, युवा सेवाएं एवं Sports Minister Rakesh Pathania ने लाहडू स्थित वन विभाग के विश्राम गृह में आयोजित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिए।

Advertisement

इस बैठक में मंत्री राकेश पठानिया ने उपमंडल भटियात के तहत बीते दिनों हुई बारिश के चलते प्राकृतिक आपदा से प्रभावित व्यवस्थाओं को सुचारू बनाने के लिए सभी संबंधित विभाग तत्काल और दीर्घकालिक कार्यों के आधार पर त्रिस्तरीय कार्य योजना को जल्द तैयार करना सुनिश्चित बनाने के निर्देश दिए। और उन्होंने नुक़सान का आंकलन करने के लिए ड्रोन सेवाओं का उपयोग करने का निर्देश भी दिया ताकि नुकसान का वास्तविक आकलन किया जा सके ।

वन, युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री ने कहा कि उपमंडल भटियात में सार्वजनिक अधोसंरचनाओं, लोगों की निजी संपत्तियों , सड़कों , विद्युत आपूर्ति लाइनों और पेयजल योजनाओं को बहुत बड़े पैमाने पर काफी नुकसान हुआ है । और ऐसे में व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए संबंधित सभी विभागों को किए जाने वाले कार्यों के तहत तत्काल और दीर्घकालिक आधार पर त्रिस्तरीय कार्य योजना जल्द तैयार की जाए ।

साथ ही उन्होंने यह निर्देश भी दिए की महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी अधिनियम के तहत समयबद्ध तौर पर आवश्यक निर्माण कार्यों को शुरू करने के लिए शैल्फ तैयार की जाए ।

विभिन्न पेयजल योजनाओं की बहाली को लेकर समीक्षा के दौरान राकेश पठानिया ने राष्ट्रीय जल जीवन मिशन के तहत क्षतिग्रस्त पेयजल योजनाओं के संरक्षण से संबंधित कार्यों और नए निर्माण को शुरू करने के लिए कार्य योजना तैयार करने के निर्देश भी दिए।

लोगों के घरों को हुए नुकसान के जल्द आंकलन को लेकर राकेश पठानिया ने एसडीएम चुवाडी और डलहौजी से आस पास के क्षेत्रों से राजस्व विभाग के फील्ड कर्मियों को तैनात करने के निर्देश भी जारी किए । उन्होंने यह निर्देश भी दिए कि आगामी दस दिनों के भीतर तत्काल राहत राशि का आबंटन सुनिश्चित बनाया जाए ।

Advertisement

Similar Articles

Top
error: Content is protected !!